Ticker

6/recent/ticker-posts

दस फरवरी से खुलेंगे कक्षा छह से आठ तक के स्कूल - When will the primary school open | Study started on 10 February

प्राइमरी स्कूल कब खुलेगी 

प्राइमरी स्कूल कब खुलेगी

पहली मार्च से प्राइमरी स्कूलों में शुरू हो जाएँगी पढाई| कोरोना महामारी के कारण प्रदेश में पिछले साल से बंद चल रहे है कक्षा छह से आठ तक के सभी स्कूल 10 फरवरी से खुलेंगे| वही कक्षा एक से पांच तक के प्राइमरी स्कूल एक मार्च से खुलेंगे| बसीच शिक्ष विभाग ने शुक्रवार इस को इस बारे में शासनादेश जारी कर दिया था| प्रदेश में उच्च प्राथमिक स्कूल लगभग 11 महीने और प्राथमिक विद्यालय साढ़े 11 महीने बाद खुलेंगे|

बेसिक शिक्षा विभाग ने कक्षा छह से आठ तक के स्कूलों को 15 फरवरी और प्राइमरी स्कूलों को एक मार्च से खोलने का प्रस्ताव मुख्यमंत्री के मंजूरी के लिए भेजा था| मुख्यमंत्री ने छह से आठ के स्कूलों को 10 फरवरी से खोलने का निर्देश दिया, जबकि प्राइमरी स्कूल 1 मार्च से खुलेंगे|

नौवीं से 12वीं तक की स्कूल कब खुलेगी

बेसिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार की ओर से जारी शासनादेश में उच्च प्राथमिक व प्राथमिक स्कूलों के संचालन में कोविद प्रोटोकॉल और इस बारे में केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय की ओर से जारी मानक करने के लिए कहा गया है| कोरोना संक्रमण की दस्तक को देखते हुए शासन ने पिछले साल 13 मार्च को प्रदेश में एक से आठ तक के सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया था| प्रदेश में कक्षा 9 से 12 तक के स्कूल पिछले साल 19 अक्टूबर और विश्वविद्यालय 23 नवंबर से खुल चुके है|

रेमेडियल टीचिंग पर होगा फोकस चलेगा 100 दिन का विशेष अभियान

परिषदीय स्कूलों के खुलने पर प्रेरणा उत्सव नामक 100 दिनों का विशेष अभियान चलाया जायेगा| अभियान का उद्देश्य कोरोना महामारी के कारण बाधित हुए पढ़ाई की भरपाई करना है| बच्चो के प्रारंभिक आकलन के आधार पर 100 दिनी अभियान के दौरान उनकी रेमेडियल टीचिंग (उपचारकता शिक्षा) और तेजी से सिखाने (एक्सीलेरेटेड लर्निग) पर फोकस होगा, ताकि वे कक्षा के अनुरूप अपेक्षित लर्निंग आउटकम प्राप्त कर सके|

कोरोना संक्रमण के दौरान बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से परिषदीय स्कूलों के बच्चों के लिए इ-पाठशाला संचालित की गई| इसके बावजूद बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुई है| परिषदीय स्कूलों के खुलने के बाद प्राथमिक कक्षाओं के सभी बच्चों का गणित और भाषा ज्ञान जानने के लिए इन विषयों में उनका प्रभावित आकलन किया जायेगा, ताकि यह पता चल सके कि बच्चो ने अब तक क्या सीखा- पढ़ा है|

कक्षा नौ से इंटर तक के सभी विद्यार्थी आएंगे स्कूल, माध्यमिक शिक्षा विभाग ने 9 फरवरी से नौ से बारह तक की कक्षाए पहले की तरह पूर्णरूप चलाने के निर्देश दिए है| यानी अब सभी विद्यार्थियों को क्लास में पढ़ाई के लिए बुलाया जायेगा| अब पढाई पूरी तरह ऑफलाइन ही होगी|कोरोना से बचाव के उपायों के साथ विद्यार्थयों को किस तरह स्कूलों में बैठाया जायेगा, इसका इंतजाम स्कूल प्रबंधन करेगा|

Post a Comment

0 Comments